Author: Pratibha

Meri Kala Best Hindi Poem मेरी कला

मैँ तो एक कलम था छोटी सी मगर शब्द बनकर साथ सारे चले। मेरे आगे ना था रास्ता कोई मेरे पीछे मगर सारे चले।। मैँ कोई सूरज तो नहीँ था …