Google CEO Sundar Pichai Success Story Hindi

Google CEO Sundar Pichai Success Story Hindi : भारतीयों की काबिलियत का लोहा सारा विश्व मानता है । इस बात की पुष्टि -इस भारतीय की सच्ची लगन और मेहनत से साबित होता है. भारतीय मूल के बने Google  CEO सुंदर पिचाई आज किसी परिचय का मोहताज नहीं है, गूगल की रिस्ट्रक्चरिंग के अंतर्गत उन्हें Google का CEO नियुक्त किया गया। यह जिम्मेदारी Google को और ज्यादा क्लीन और जिम्मेदारपूर्ण बनाने के लिए सौंपा गया.

Google द्वारा Samsung को पार्टनर बनाने में भी पिचाई की अहम भूमिका रही। 1972 में चेन्नई में जन्मे सुंदर पिचाई जिनका वास्तविक नाम पिचाई सुंदराजन है, पर सभी उनको सुंदर पिचाई के नाम से पहचानते हैं। बचपन में सुंदर पिचाई का परिवार दो कमरों के घर में रहता था। उनके पास टीवी, टेलीफोन और कार जैसी कोई भी सुविधा उपलब्ध नहीं थी। उनके पिता एक इलेक्ट्रिक इंजीनियर थे

उन्होंने दसवीं की पढाई चेन्नई में स्थित Ashok Nagar के जवाहर विद्यालय और बारहवीं की पढाई चेन्नई के वना वाणी स्कूल से पूरी की, पढाई में तेज होने का लाभ सुंदर को मिला जब वह उन्हें IIT Kharagpur में विशेष सीट प्राप्त हो गई। यहां से उन्होंने Engineering की। इसके बाद Stanford University की Scholarship मिल गई। ऐसे समय उनकी पारिवारिक स्थिति अच्छी नहीं थी। यहां तक की हवाई जहाज के किराये के पैसे हेतु भी उनके पिता को उधार उठना पड़ा।

सुंदर जब 1995 में Stanford में थे तब भी उनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी। वहां वह पेइंग गेस्ट बनकर रहे। मनी सेविंग करते हुए वह पुरानी वस्तुओं का उपयोग करते थे। मगर उन्होंने कभी भी पढाई से समझौता नहीं किया। अमेरिका में सुंदर ने MBA की पढ़ाई Stanford University से की और Warton University से MBA की पढ़ाई की।

सुन्दर की मेहनत रंग लायी जब 2004 में सुंदर की Google में इंट्री हुई। उनके एक सुझाव से वह Google के संस्थापक Larry Page की नजरों में आ गए। उसके बाद सुंदर ने फिर पीछे पलटकर नहीं देखा और दिनोंदिन अपनी मेहनत से कामयाबी की सीढि़यां चढ़ते गए। आपको जानकर हैरानी होगी कि कभी उन्हें नौकरी न छोड़ने के लिए 305 करोड़ रुपए मिले थे। क्योंकि Twitter ने 2011 में पिचाई को नौकरी ऑफर की थी, लेकिन Google ने उन्हें 50 मिलियन डॉलर (लगभग 305 करोड़ रुपए) देकर रोक लिया था।

IIT Kharagpur से इंजीनियरिंग में डिग्री लेने वाले सुंदर कभी Google के प्रोडक्ट चीफ रहे। आरंभ में सुंदर Google में प्रोडक्ट और इनोवेशन अधिकारी के रूप में रखे गए थे। गूगल के Google Drive, Gmail App, Google Video Codec, Chrome OS, Android App आदि अनेक Product को तैयार करने में सुंदर की प्रमुख भूमिका रही है।

2013 में पिचाई को Android OS (Android, Chrome और Apps Division) का उत्तरदायित्व सौंपा गया था जिसे उन्होंने बहुत ही खूबसूरती से निभाया। इनके इन्ही प्रतिभाओं के चलते वो सबसे बड़े Internet कंपनी में अपनी विशेष जगह बनाई।

इससे ये साबित होता है कि, जिसके हौसलें बुलंद हो वो आसमान को भी छू सकता है। सच्ची लगन और मेहनत हो तो आपको सफल होने से कोई नहीं रोक सकता, क्योंकि आदमी खुद में अगर तूफान ढूंढें तो बड़ा से बड़ा तूफान भी उसे छोटा लगने लगता है। आपकी असफलता तो आपके बहाने बनाने में छुपी है, आप बहाना बनाकर दूसरों को नहीं खुद को धोखा दे रहे हैं। 

Google CEO Sundar Pichai Success Story Hindi

Leave a Reply