Muhammad Yunus Famous Qutes in Hindi मोहम्मद युनुस उद्धरण

मोहम्मद युनुस उद्धरण

  • मैं बैंक गया और गरीबों को ऋण देने का प्रस्ताव रखा . बैंकर्स लगभग गिर ही गए .
  • बांग्लादेश में मैं जिस हालात में काम कर रहा था , मुझे बिलकुल भी पता नहीं था कि मैं कभी गरीबों को पैसे उधार देने जैसी चीज में शामिल होऊंगा .
  • एक तरफ स्वार्थ की अभिव्यक्ति है और एक तरफ निस्वार्थता की अभिव्यक्ति है – लेकिन अर्थशास्त्रियों या थेओरेटीशन्स ने वह हिस्सा कभी नहीं छुआ. उन्होंने कहा, ‘जाओ और परोपकारी बन जाओ .’ मैंने कहा , ‘नहीं, मैं व्यापार जगत में ऐसा कर सकता हूँ , एक अलग तरह के व्यापार का निर्माण कर सकता हूँ – निस्वार्थता पर आधारित एक व्यापार’ .
  • सिर्फ अपनी प्रमुख शक्ति और ज्ञान का प्रयोग कर के , कंपनिया और उद्यमी एक उभरते बिज़नेस -मॉडल में लग सकते हैं जो उन्हें समाज पर एक वास्तविक एवं स्थायी प्रभाव डालने में समर्थ बना सकता है .
  • मनुष्य सिर्फ पैसा कमाने से कहीं बढ़कर हैं।
  • माइक्रोक्रेडिट ने दिखा दिया है की कैसे आप उन लोगों तक पहुँच सकते हैं जहाँ पारंपरिक बैंकिंग नहीं पहुँच सकती। इसने साबित कर दिया है कि ऐसा किया जा सकता है।
  • मनुष्यों में भारी लचीलापन है .
  • असीमित मानव रचनात्मकता के साथ बेजोड़ तकनीकी क्षमता ने हमें गरीबी, बेरोजगारी, बीमारी, और पर्यावरण क्षरण जैसी गंभीर समस्याओं से लड़ने की जबरदस्त शक्ति दे दी है . इस असाधारण क्षमता को सार्थक परिवर्तन में बदलना हमारी चुनौती है .
  • और चूँकि ये बाहरी है , इसे हटाया जा सकता है। बस ऐसा करने का सवाल है।
  • सभी मनुष्य जन्मजात उद्यमी होते हैं। कुछ को यह क्षमता दिखाने का मौका मिलता है। कुछ को कभी नहीं मिलता , कभी नहीं पता चला की इसमें या उसमे ये क्षमता है।


Leave a Comment

*

code