Plato of Very Famous Quotes in Hindi प्लेटो के अनमोल वचन

Plato प्लेटोके अनमोल वचन

  • किसी व्यक्ति के लिए स्वयं पर विजय पाना सभी जीतों में सबसे पहली और महान है.
  • जितना भी सोना पृथ्वी या उसके अन्दर है वो अपने सद्गुणों के बदले देना पर्याप्त नहीं है.
  • अगर हर एक व्यक्ति अपनी प्राकृतिक काबिलियत के अनुसार,बिना और चीजों में पड़े, सही समय पर और सिर्फ एक काम करता तो चीजें कहीं बेहतर गुणवत्ता और मात्रा में निर्मित होतीं.
  • वो जो कम चुराता है वो उसी इच्छा के साथ चुराता है जितना की अधिक चुराने वाला, परन्तु कम शक्ति के साथ.
  • जो अच्छा सेवक नहीं है वो अच्छा मालिक नहीं बन सकता.
  • ईमानदारी ज्यादातर बेईमानी से कम लाभदायक होती है.
  • तुम ये कैसे साबित कर सकते हो कि इस क्षण हम सो रहे हैं, और हमारी सारी सोच एक सपना है; या फिर हम जगे हुए हैं और इस अवस्था में एक दूसरे से बात कर रहे हैं?
  • मैं ये मान सकता हूँ कि आपका मौन सहमती देता है.
  • अगर इंसान शिक्षा की उपेक्षा करता है तो वह लंगडाते हुए अपने जीवन के अंत की तरफ बढ़ता है.
  • मानव व्यवहार तीन मुख्या स्रोतों से निर्मित होता है: इच्छा, भावना, और ज्ञान.
  • मैं शायद ही कभी ऐसे गणितज्ञ से मिला हूँ जो तर्क करना जानता हो.
  • मैंने कभी भी कोई करने योग्य चीज संयोग से नहीं की, ना ही मेरे कोई आविष्कार इत्तफाक से हुए, वो काम करने से आये.
  • अज्ञानता, सभी बुराइयों कि जड़ और तना.
  • ये एक आम कहावत है, और सभी कहते हैं, ज़िन्दगी कुछ समय के लिए कहीं पर ठहरना है.
  • यह उचित है की हर व्यक्ति को वह दिया जाये जिसके वो योग्य है.
  • यदि उद्देश्य नेक ना हो तो ज्ञान बुराई बन जाता है.
  • मजबूरी में अर्जित किया गया ज्ञान मन पर पकड़ नहीं बना पाता.
  • बिना न्याय के ज्ञान को बुद्धिमानी नहीं चालाकी कहा जाना चाहिए.
  • प्रेम एक गंभीर दिमागी बीमारी है.
  • आवश्यकता…आविष्कार की जननी.

Leave a Reply