Rabindranath Tagore Famous Quotes in hindi रबिन्द्रनाथ टैगोर के अनमोल विचार

रबिन्द्रनाथ टैगोर के अनमोल विचार

  • प्रेम अधिकार का दावा नहीं करता , बल्कि स्वतंत्रता देता है.
  • जब मैं खुद पर हँसता हूँ तो मेरे ऊपर से मेरा बोझ कम हो जाता है.
  • कला में व्यक्ति खुद को उजागर करता है कलाकृति को नहीं.
  • हम ये प्रार्थना ना करें कि हमारे ऊपर खतरे न आयें, बल्कि ये करें कि हम उनका सामना करने में निडर रहे.
  • केवल प्रेम ही वास्तविकता है , ये महज एक भावना नहीं है.यह एक परम सत्य है जो सृजन के ह्रदय में वास करता है.
  • संगीत दो आत्माओं के बीच के अनंत को भरता है.
  • जीवन हमें दिया गया है, हम इसे देकर कमाते हैं.
  • तितली महीने नहीं क्षण गिनती है, और उसके पास पर्याप्त समय होता है.
  • अकेले फूल को कई काँटों से इर्ष्या करने की ज़रुरत नहीं होती.
  • उच्चतम शिक्षा वो है जो हमें सिर्फ जानकारी ही नहीं देती बल्कि हमारे जीवन को समस्त अस्तित्व के साथ सद्भाव में लाती है.
  • बर्तन में रखा पानी चमकता है; समुद्र का पानी अस्पष्ट होता है. लघु सत्य स्पष्ठ शब्दों से बताया जा सकता है, महान सत्य मौन रहता है.
  • जिनके स्वामित्व बहुत होता है उनके पास डरने को बहुत कुछ होता है.
  • मुखर होना आसान है जब आप पूर्ण सत्य बोलने की प्रतीक्षा नहीं करते.
  • पृथ्वी द्वारा स्वर्ग से बोलने का अथक प्रयास हैं ये पेड़.
  • हम महानता के सबसे करीब तब होते हैं जब हम विनम्रता में महान होते हैं.
  • हम तब स्वतंत्र होते हैं जब हम पूरी कीमत चुका देते हैं.
  • हम दुनिया में तब जीते हैं जब हम उसे प्रेम करते हैं.
  • कला क्या है ? यह इंसान की रचनात्मक आत्मा की यथार्थ के पुकार के प्रति प्रतिक्रिया है.
  • सिर्फ खड़े होकर पानी देखने से आप नदी नहीं पार कर सकते.
  • आपकी मूर्ती का टूट कर धूल में मिल जाना इस बात को साबित करता है कि इश्वर की धूल आपकी मूर्ती से महान है.

Leave a Comment

*

code