Sai Baba Famous Quotes in Hindi साईं बाबा के अनमोल वचन

Sai Baba साईं बाबा के अनमोल वचन

  • यदि कोई अपना पूरा समय मुझमें लगाता है और मेरी शरण में आता है तो उसे अपने शरीर या आत्मा के लिए कोई भय नहीं होना चाहिए.
  • यदि कोई सिर्फ और सिर्फ मुझको देखता है और मेरी लीलाओं को सुनता है और खुद को सिर्फ मुझमें समर्पित करता है तो वह भगवान तक पंहुच जायेगा.
  • मेरा काम आशीर्वाद देना है.
  • मेरे रहते डर कैसा?
  • अपने गुरु में पूर्ण रूप से विश्वास करें. यही साधना है.
  • मैं अपने भक्त का दास हूँ.
  • मैं निराकार हूँ और सर्वत्र हूँ.
  • मेरी दृष्टि हमेशा उनपर रहती है जो मुझे प्रेम करते हैं.
  • तुम जो भी करते हो, तुम चाहे जहाँ भी हो, हमेशा इस बात को याद रखो: मुझे हमेशा इस बात का ज्ञान रहता है कि तुम क्या कर रहे हो.
  • मैं हर एक वस्तु में हूँ और उससे परे भी. मैं सभी रिक्त स्थान को भरता हूँ.
  • आप जो कुछ भी देखते हैं उसका संग्रह हूँ मैं.
  • मैं डगमगाता या हिलता नहीं हूँ.
  • मैं किसी पर क्रोधित नहीं होता. क्या माँ अपने बच्चों से नाराज हो सकती है ? क्या समुद्र अपना जल वापस नदियों में भेज सकता है ?
  • मैं तुम्हे अंत तक ले जाऊंगा.
  • पूर्ण रूप से ईश्वर में समर्पित हो जाइये.
  • यदि तुम मुझे अपने विचारों और उद्देश्य की एकमात्र वस्तु रक्खोगे , तो तुम सर्वोच्च लक्ष्य प्राप्त करोगे.
  • मेरी शरण में रहिये और शांत रहिये. मैं बाकी सब कर दूंगा.
  • हमारा कर्तव्य क्या है? ठीक से व्यवहार करना. ये काफी है.
  • मैं अपने भक्तों का अनिष्ट नहीं होने दूंगा.
  • अगर मेरा भक्त गिरने वाला होता है तो मैं अपने हाथ बढ़ा कर उसे सहारा देता हूँ.
  • मैं अपने लोगों के बारे में दिन रात सोचता हूँ. मैं बार-बार उनके नाम लेता हूँ.

Leave a Reply